सोलह महाजनपद Sixteen Mahajanapadas

सोलह महाजनपद

सोलह महाजनपद, छठी शताब्दी ईo पूo भारत में सोलह महाजनपद का अस्तित्व था।, बुद्ध काल में सर्वाधिक शक्तिशाली महाजनपद – वत्स, अवन्ति, मगध, कोसल।

बौद्ध धर्म Buddhism

बौद्ध धर्म

बौद्ध धर्म Buddhism, गौतम बुद्ध ,गौतम बुद्ध ने अपना पहला उपदेश सारनाथ (ऋषिपतनम) में दिया।सम्यक् दृष्टि, सम्यक् संकल्प, सम्यक् वाक्, सम्यक, कर्मानत, सम्यक् आजीव, सम्यक् व्यायाम, सम्यक् स्मृति तथा सम्यक् समाधि

जैन धर्म Jainism

जैन धर्म

जैन धर्म Jainism, ऋषभदेव, त्रिरत्न, महावीर स्वामी, जैन महासंगीतियाँ, कालान्तर में जैन धर्म दो सम्प्रदायों श्वेताम्बर एवं दिगम्बर में बँट गया। श्वेताम्बर

वैदिक साहित्य (Vedic literature) ऋग्वेद,यजुर्वेद,सामवेद,अथर्ववेद

वैदिक साहित्य (Vedic Literature) ,ऋग्वेद,यजुर्वेद,सामवेद,अथर्ववेद,उपवेद,ब्राह्मण,आरण्यक,उपनिषद,वेदांग ,पुराण,रामायण,महाभारत,स्मृतियाँ,वैदिक, शब्दावलीक

वैदिक काल Vedic Period ( वैदिक सभ्यता Vedic Civilization )

वैदिक काल / Vedic period

वैदिक काल Vedic Period ( वैदिक सभ्यता Vedic Civilization ) ऋग्वैदिक काल, उत्तर वैदिक काल, मैक्स मूलर ने आर्यों का मूल निवास स्थान मध्य एशिया को माना है।

पाषाण काल Stone Age :- सिन्धु घाटी सभ्यता (हड़प्पा सभ्यता)

पाषाण काल मानचित्र

पाषाण काल को तीन भागों में बाँटा गया है- पुरा पाषाण काल, मध्यपाषाण काल तथा नवपाषाण काल सिन्धु घाटी सभ्यता (हड़प्पा सभ्यता) मोहनजोदड़ो

विश्व के प्रमुख औद्योगिक केंद्र ( Industries of the world )

Shikshit.Org

विश्व के प्रमुख औद्योगिक केंद्र ( Industries Of The World ) औद्योगिक क्रांति के परिणामस्वरूप यूरोप एवं उत्तरी अमेरिका में नये-नये उद्योग-धन्धे आरम्भ हुए।

राजस्थानी चित्रकला की विशेषताएं ( Features of Rajasthani painting )

राजस्थानी चित्रकला की विशेषताएं ( Features Of Rajasthani Painting ) विषय वस्तु की विविधता, वर्ण विविधता, प्रकृति परिवेश, देश काल के अनुरूप होना राजस्थान चित्रकला की प्रमुख्पा विशेषताएं हैं।  – धार्मिक एंव सांस्कृतिक क्षेत्र की चित्रकला में भक्ति एंव अंगार इस की प्रधानता हैं।  – दीप्तियुक्त, चटकदार एंव सुनहरे रंगो का अधिक प्रयोग किया जाता …

Read moreराजस्थानी चित्रकला की विशेषताएं ( Features of Rajasthani painting )

राजस्थान कें संस्कार / संस्कृति ( Culture )

जडूला:- जातकर्म (बच्चों के बाल उत्रवाना) बरी पड़ला:- वर पक्ष के लोगों द्वारा वधू पक्ष के लोगों के लिए लेकर जाने वाले उपहार। सामेला (मधुर्पक):- शादी पर वधु पक्ष द्वारा वर पक्ष की अगुवानी करना। मोड़ बाँधनाः- वर को बारात में चढ़ाते समय मांगलिक कार्य। नांगल:- नये घर का उद्घाटन कांकनडोरा:- वर को शादी पूर्व …

Read moreराजस्थान कें संस्कार / संस्कृति ( Culture )

राजस्थान मे प्रमुख मेले ( Major Fairs in Rajasthan )

राजस्थान मे प्रमुख मेले ( Major Fairs In Rajasthan ) राजस्थान सरकार द्वारा आयोजित मेले : 1. पतंग महोत्सव – जयपुर  2. ऊंट महोत्सव – बीकानेर  3. मरू महोत्सव – जैसलमेर  4. थार महोत्सव – बाड़मेर  5. हाथी महोत्सव – जयपुर  6. शरद महोत्सव – माउंट आबू  7. मेवाड महोत्सव – उदयपुर  8. दशहरा महोत्सव …

Read moreराजस्थान मे प्रमुख मेले ( Major Fairs in Rajasthan )