भारत के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान – National Park in India

भारत के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्य जीव अभ्यारण - हजारीबाग वन्य जीव अभ्यारण्य झारखंड, कैमूर वन्य जीव अभ्यारण्य बिहार, गिर राष्ट्रीय उद्यान गुजरात, नल सरोवर अभ्यारण्य गुजरात, जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान उत्तराखंड

भारत के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्य जीव अभ्यारण – हजारीबाग वन्य जीव अभ्यारण्य झारखंड, कैमूर वन्य जीव अभ्यारण्य बिहार, गिर राष्ट्रीय उद्यान गुजरात, नल सरोवर अभ्यारण्य गुजरात, जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान उत्तराखंड

भारत के राष्ट्रीय प्रतीक चिह्न – National Emblem

भारत के राष्ट्रीय प्रतीक चिह्न - National Emblem ;- राष्ट्रीय ध्वज इसे 22 जुलाई, 1947 को संविधान सभा ( Constituent assembly ) द्वारा स्वीकृत किया गया। इसके डिजाइनकार पिंगाली वेंकइया थे। इसकी लम्बाई व चौड़ाई का अनुपात 3 : 2 होता है। बीच में 24 तीलियों वाला नीला चक्र होता है।

भारत के राष्ट्रीय प्रतीक चिह्न – National Emblem ;- राष्ट्रीय ध्वज इसे 22 जुलाई, 1947 को संविधान सभा ( Constituent assembly ) द्वारा स्वीकृत किया गया। इसके डिजाइनकार पिंगाली वेंकइया थे। इसकी लम्बाई व चौड़ाई का अनुपात 3 : 2 होता है। बीच में 24 तीलियों वाला नीला चक्र होता है।

भारत विविध – India Diverse

भारत से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ. सामान्य ज्ञान भारत प्रश्नोत्तरी (विविध विषय) भारत के वर्तमान तथा भूतपूर्व राष्ट्रपति भारत के वर्तमान एवं भूतपूर्व प्रधानमंत्री

भारतीय संविधान के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

भारतीय संविधान के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर - संसद में बजट कौन प्रस्तुत करता है ?, राजनीति विज्ञान का केन्द्रीय प्रतिपाद्य क्या है ?, संविधान सभा ने अपना स्थायी अध्यक्ष किसे चुना था ?

भारतीय संविधान के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर – संसद में बजट कौन प्रस्तुत करता है ?, राजनीति विज्ञान का केन्द्रीय प्रतिपाद्य क्या है ?, संविधान सभा ने अपना स्थायी अध्यक्ष किसे चुना था ?

भारतीय संविधान की विशेषताएं – Features of Indian Constitution

भारतीय संविधान की विशेषताएं - "पंथनिरपेक्ष', "समाजवाद" तथा "अखण्डता" शब्द संविधान की उद्देशिका में 42 वें संशोधन के द्वारा 1976 में जोड़े गये। संसद के तीन अंग होते हैं- लोकसभा, राज्यसभा और राष्ट्रपति।

भारतीय संविधान की विशेषताएं – “पंथनिरपेक्ष’, “समाजवाद” तथा “अखण्डता” शब्द संविधान की उद्देशिका में 42 वें संशोधन के द्वारा 1976 में जोड़े गये। संसद के तीन अंग होते हैं- लोकसभा, राज्यसभा और राष्ट्रपति।

संविधान संशोधन – Constitutional Amendment

संविधान के अनुच्छेद 368 में संशोधन की प्रक्रिया को बताया गया है। संविधान संशोधन की तीन विधियों को अपनाया गया है। साधारण बहुमत द्वारा संशोधन, विशेष बहुमत द्वारा संशोधन

संविधान के अनुच्छेद 368 में संशोधन की प्रक्रिया को बताया गया है। संविधान संशोधन की तीन विधियों को अपनाया गया है। साधारण बहुमत द्वारा संशोधन, विशेष बहुमत द्वारा संशोधन

विधानमंडल :- विधानसभा, विधान परिषद्

संविधान के अनुच्छेद 168 में प्रत्येक राज्य के लिए एक विधानमंडल का प्रावधान किया गया है जो राज्यपाल तथा एक या दो सदनों को मिलाकर बनता है।

संविधान के अनुच्छेद 168 में प्रत्येक राज्य के लिए एक विधानमंडल का प्रावधान किया गया है जो राज्यपाल तथा एक या दो सदनों को मिलाकर बनता है। राज्य विधानमंडल के ये दो सदन हैं विधानसभा, विधान परिषद्

मुख्यमन्त्री – Chief Minister

मुख्यमन्त्री ही राज्य की कार्यपालिका का वास्तविक प्रधान होता है संविधान के अनुच्छेद 164 में कहा गया है कि मुख्यमन्त्री की नियुक्ति राज्यपाल करेगा। व्यवहार के अन्तर्गत राज्यपाल के द्वारा विधानसभा के बहुमत दल के नेता को ही मुख्यमन्त्री पद पर नियुक्त किया जाता है।

मुख्यमन्त्री ही राज्य की कार्यपालिका का वास्तविक प्रधान होता है संविधान के अनुच्छेद 164 में कहा गया है कि मुख्यमन्त्री की नियुक्ति राज्यपाल करेगा। व्यवहार के अन्तर्गत राज्यपाल के द्वारा विधानसभा के बहुमत दल के नेता को ही मुख्यमन्त्री पद पर नियुक्त किया जाता है।

राज्यपाल – राज्य कार्यपालिका

राज्यपाल

राज्यपाल राज्य की कार्यपालिका का वैधानिक प्रधान होता है। मन्त्रिपरिषद राज्य की कार्यपालिका सत्ता की वास्तविक प्रधान होती है जिसका अध्यक्ष मुख्यमंत्री होता है।